33.6 C
Jaipur
Monday, July 4, 2022
Homeराजस्थानअनाज बैंक एक सामाजिक जन सरोकार

अनाज बैंक एक सामाजिक जन सरोकार

गणपतराम गर्ग

भारत अपटेड न्यूज, पोकरण। कोरोना वायरस कोविड 19 के संक्रमण महामारी के इस दौर में गांव स्तर पर उन्हीं गांव के लोगों द्वारा अनाज एकत्रित कर अनाज बैंक बनाया गया है जो इस विषम परिस्थितियों में जरूरतमंदों को राहत पहुंचाने का काम करेगा।

इस संबंध में जानकारी देते हुए उरमूल ट्रस्ट बीकानेर के सहयोग से संचालित मरुगंधा परियोजना के परियोजना निदेशक दीनदयाल अरोड़ा ने बताया कि उरमूल ट्रस्ट पश्चिमी राजस्थान में हमेशा ही आपदा की स्थिति में सरकार का सहयोग करने के लिए अग्रणी रहा है। अरोड़ा ने बताया कि अभी देश में कोरोना वायरस कोविड 19 कोरोना के कारण यहां महामारी की स्थिति बनी हुई है। इस कारण देश में लाॅकडाउन चल रहा है। ऐसी परिस्थिति में दिन दिहाडी की मजदूरी करने वाले, विकलांग, विधवा, असहाय लोगों की स्थिति चिंताजनक हैं। इस विषम परिस्थिति से निपटने के लिए सरकार भी अपने स्तर पर प्रयत्न कर रही है। सरकार व जरूरतमंदों का सहयोग करने के लिए उरमूल ट्रस्ट भी सरकार के साथ है।

अरोड़ा ने बताया कि लोगों की मदद के लिए गांव के लोगों के सहयोग से उस गांव में अनाज बैंक बनाया गया है जिसे उसी गांव में बने महिला समूह की महिलाएं व ग्राम विकास कमेटी के पदाधिकारी ही संचालित करेंगे जिसका मार्गदर्शन संस्था द्वारा किया जाएगा। अनाज बैंक गांव में जन सरोकार के रूप में काम करेगा। इससे प्रेरणा लेकर आस-पास के गांवों में भी ऐसी ही पहल की शुरुआत हो सकती है।

पहले चरण में सुगनपुरा, खेतोलाई, ओढ़ानिया गांव में अनाज बैंक की शुरुआत की गई हैं। सुगनपुरा अनाज बैंक की जानकारी देते हुए कलस्टर कोर्डिनेटर पुखराज जयपाल ने बताया की गांव के समाजसेवी अलसाराम, नेनाराम, थानाराम, देराजराम, पोकरराम, रेखा, पूजा व मंजू ने गांव के भामाशाहों से 2 क्वींटल अनाज एकत्रित कर अनाज बैंक में जमा किया गया है। खेतोलाई के बारे में जानकारी देते हुए कलस्टर कोर्डिनेटर नागेन्द्र माथुर ने बताया कि महिला समूह की महिलाएं व समाजसेवी रामस्वरूप विश्नोई ने अनाज बैंक में एक क्वींटल अनाज एकत्रित किया है। इसी प्रकार कलस्टर कोर्डिनेटर गणपतराम गर्ग ने बताया कि ओढ़ानिया गांव में ग्राम विकास कमेटी के भलाराम, मानाराम, कानाराम, पदमाराम, लक्ष्मी व राधा ने मिलकर गांव के भामाशाहों से एक क्वींटल बीस किलो अनाज बैंक में एकत्रित किया है।

इस संबंध में आगे की जानकारी देते हुए गणपतराम गर्ग ने बताया कि अनाज बैंक में अनाज जमा करने का ये काम चलता रहेगा। इस जमा अनाज का वितरण उसी गांव में व जरूरतमंदों को आवश्यकतानुसार समूह की महिलाओं व ग्राम विकास कमेटी के द्वारा निःशुल्क वितरण किया जाएगा ।

 

बाबूलाल नागा
बाबूलाल नागाhttps://bharatupdate.com
हम आपको वो देंगे, जो आपको आज के दौर में कोई नहीं देगा और वो है- सच्ची पत्रकारिता। आपका -बाबूलाल नागा एडिटर, भारत अपडेट
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments