32.6 C
Jaipur
Sunday, September 24, 2023
Homeविविधबिज़नेसब्रिज बिजनेस चैंबर्स इंडस्ट्री फेडरेशन द्वारा राजा बुंदेला का सम्मान

ब्रिज बिजनेस चैंबर्स इंडस्ट्री फेडरेशन द्वारा राजा बुंदेला का सम्मान

टीम भारत अपडेट। ब्रिज बिजनेस चैंबर्स इंडस्ट्री फेडरेशन द्वारा होटल ताज फ्रंट लेक व्यू भोपाल में राजा बुंदेला के सम्मान में स्वागत समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मप्र के जाने-माने उद्योगपति शामिल हुए। राजा बुंदेला का स्वागत ब्रिज के संस्थापक निदेशक पी टेकवानी और आनंदम ग्रुप के अध्यक्ष और ब्रिज के संयोजक तथा राष्ट्रीय बोर्ड सदस्य अशोक आनंद ने किया और उन्हें आजीवन सदस्य के रूप में प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। ब्रिज के पहले सदस्य तथा ब्रिज फेडरेशन के राष्ट्रीय समन्वय परिषद के अध्यक्ष मुकेश शर्मा एवं डॉ. आर.एस. गोस्वामी ने बुंदेला जी का बैच एवं पुष्प गुच्छ देकर अभिनंदन किया। कार्यक्रम में ब्रिज और मध्य प्रदेश महासंघ के बीच गठबंधन की संभावनाओं पर भी चर्चा हुई।

राजा बुंदेला जी ने अपने भाषण में ब्रिज फेडरेशन द्वारा भारत में लाई जा रही नई संभावनाओं की सराहना की और अफ्रीका और भारत के मध्य ब्रिज फेडरेशन के माध्यम से नई पीढ़ी के लिए पहल करने का आह्वाहन किया एवं टेकवानी के उद्यम की भी सराहना की। भारत और अफ्रीका को जोड़ने के लिए किए गए प्रयास का विस्तृत ब्योरा दिया गया।

कार्यक्रम में शामिल हुए अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने भी अपने-अपने वक्तव्य में अफ्रीका में उद्यमिता की नई संभावनाओं के बारे में अपनी जिज्ञासा व्यक्त की। लघु उद्योग भारती की प्रदेश अध्यक्ष उमा शर्मा ने उद्योगों की उपज के संबंध में अंतर्राष्ट्रीय पहुंच पर समन्वय की संभावनाएं तलाशने की भी इच्छा व्यक्त की। ब्रिज के बोर्ड सदस्य प्रवीण राय ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कृषक उत्पादक संगठन उद्यमियों की संभावनाओं पर विस्तार से चर्चा की। स्वागत भाषण में डॉ. पूजा कश्यप एवं कंचन किशोर ने एफएमसीआई ग्रुप द्वारा शिक्षा उद्योग एवं आयुर्वेदिक उद्योगों पर चलाये जा रहे प्रोजेक्टों पर एक-एक कर के प्रकाश डाला। उद्योगपति राजवीर सिंह, मनमोहन खन्ना, तेजकुल पाली, योगेश खरब, रजत चतुर्वेदी, शुभा, रमन आनंद, गगन आनंद, हिना अरशद, बैंकर पंकज अग्रवाल,  चार्टर्ड अकाउंटेंट अशोक अग्रवाल आदि भी उपस्थित थे।

Bharat Update
Bharat Update
भारत अपडेट डॉट कॉम एक हिंदी स्वतंत्र पोर्टल है, जिसे शुरू करने के पीछे हमारा यही मक़सद है कि हम प्रिंट मीडिया की विश्वसनीयता इस डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी परोस सकें। हम कोई बड़े मीडिया घराने नहीं हैं बल्कि हम तो सीमित संसाधनों के साथ पत्रकारिता करने वाले हैं। कौन नहीं जानता कि सत्य और मौलिकता संसाधनों की मोहताज नहीं होती। हमारी भी यही ताक़त है। हमारे पास ग्राउंड रिपोर्ट्स हैं, हमारे पास सत्य है, हमारे पास वो पत्रकारिता है, जो इसे ओरों से विशिष्ट बनाने का माद्दा रखती है।
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments