9.8 C
New York
Sunday, March 3, 2024
Homeविविधमनोरंजनद क्यू टीवी पर शुरू हुए बालवीर को मिल रहा दर्शकों का...

द क्यू टीवी पर शुरू हुए बालवीर को मिल रहा दर्शकों का भरपूर प्यार

टीम भारत अपडेट। फेंटेसी टेलीविज़न शो बालवीर इन दिनों फिर सुर्ख़ियों में है। डीडी फ्री डिश पर मौजूद द क्यू टीवी पर अपनी वापसी के साथ, बालवीर एक बार फिर दर्शकों को टीवी सेट्स से चिपके रहने पर मजबूर कर रहा है। द क्यू टीवी पर 26 फरवरी से शुरू हुए, सात परियों की अद्भुत शक्तियों से भरपूर, देश के एकलौते चाइल्ड सुपरहीरो बालवीर की कहानी, अपने दिलचस्प किरदारों, बेहतरीन स्टोरी लाइन व सुपरहिट एक्शन से बच्चों के साथ-साथ बड़ों को भी मनोरंजित कर रही है।
इस बारे में बात करते हुए क्यू टीवी के प्रोग्रामिंग हेड आशुतोष बर्वे ने कहा, “क्यू टीवी पर अपने दर्शकों के लिए बालवीर को लाने पर हम बेहद उत्साहित हैं। बालवीर देश के सबसे प्यारे चाइल्ड सुपरहीरो हैं। प्रत्येक एपिसोड में सुपर रोमांच, दमदार एक्शन, कॉमेडी, स्पेशल इफेक्ट्स और इमोशन मौजूद है। कुल मिलाकर इस शो में वह सब कुछ है जो दर्शकों को पसंद आता है। बालवीर खलनायिका भयंकर परी की दुष्ट योजनाओं से लड़ेगा और प्रत्येक एपिसोड में यह देखना दिलचस्प व रोमांचक होगा कि बालवीर खलनायकों को कैसे हराता है। कहीं न कहीं मैं यह भी कहना चाहता हूं कि द क्यू टीवी हमेशा कुछ अधिक करने में विश्वास रखता है और हमारे प्रिय दर्शकों के लिए सर्वश्रेष्ठ कंटेंट लाता है। इसे जारी रखते हुए अब हम देश के सबसे प्यारे चाइल्ड सुपरहीरो को लेकर आए हैं।”
बालवीर जिसे परी लोक की परियों द्वारा अविश्वसनीय महाशक्तियों का आशीर्वाद प्राप्त है। लेकिन पृथ्वी पर बच्चों के विनाश के पीछे एक दुष्ट परी हावी है और पृथ्वी पर मानवता की रक्षा व बच्चों के संरक्षण के लिए, बलवीर को उसके खिलाफ खड़ा होना पड़ता है। यह शो सोमवार से शुक्रवार शाम 7:30 बजे द क्यू टीवी पर टेलीकास्ट हो रहा है। इस दौरान शो न देख पाने वाले दर्शक, हफ्तेभर के धमाकेदार एपिसोड के मजे शनिवार और रविवार को ले सकते हैं।
Bharat Update
Bharat Update
भारत अपडेट डॉट कॉम एक हिंदी स्वतंत्र पोर्टल है, जिसे शुरू करने के पीछे हमारा यही मक़सद है कि हम प्रिंट मीडिया की विश्वसनीयता इस डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी परोस सकें। हम कोई बड़े मीडिया घराने नहीं हैं बल्कि हम तो सीमित संसाधनों के साथ पत्रकारिता करने वाले हैं। कौन नहीं जानता कि सत्य और मौलिकता संसाधनों की मोहताज नहीं होती। हमारी भी यही ताक़त है। हमारे पास ग्राउंड रिपोर्ट्स हैं, हमारे पास सत्य है, हमारे पास वो पत्रकारिता है, जो इसे ओरों से विशिष्ट बनाने का माद्दा रखती है।
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments